Friday, April 1, 2011

कुछ चोर रास्ते मेहमाननवाज़ी के ....

आज आपको मेहमाननवाज़ी के कुछ चोर रास्ते बताते हैं |इन चोर रास्तों की ज़रुरत अचानक आ गए मेहमानों
की खातिर के समय पड़ती है |यूँ तो कुछ बना ही लेते हैं लेकिन थोड़ा अतिरिक्त भागदौड़ करके और मेहमानों को अकेला बैठा कर |अगर एकाद व्यंजन बना कर रख लें तो उसका रूप बदल कर नयी डिश परोस सकते हैं |
      वडा - अगर वडा पहले ही तल कर रख लें तो उसका स्वाद खराब नहीं होता |अगर संशय हो तो फ्रीज़र में भी रख सकते है |जब बनाना हो ,उस को तेज़ गरम पानी में भिगो दें और ढककर रख दें |तले हुए वडे से आप तुरंत दही-वडा या सांभर-वडा बना सकते हैं |सांभर बनाने में तो मुश्किल से दस से पंद्रह मिनट लगते हैं |तैयार वड़ों को हल्का सा सूखा ही गरम कर के हाथों से मसल कर खस्ता और कचौड़ी की भरावन भी कुछ पलों में तैयार हो जायेगी |
      छौंके हुए आलू -  आलू अकसर उबाल कर रखे जाते हैं की जब जरूरत हो तुरंत भून कर इस्तेमाल कर लिया जाएगा | उबाले हुए आलुओं को भूनने में घी ज्यादा सोखता है ,अन्यथा सोंधापन नहीं आता है | इसके स्थान पर कच्चे आलुओं को छील कर सिर्फ हींग-जीरे की छौंक लगा कर गला लें और धीमी आंच पर कम घी में ही सोंधा कर लें |उसमें अपने स्वादानुसार मसाले -लाल मिर्च ,गरम मसाला ,पीसी खटाई इत्यादि -डाल लें | ये आलू फ्रिज में रख लें दो-तीन दिन स्वाद ताज़े आलुओं सा ही रहेगा |यदि उससे ज्यादा रखना है तो फ्रीजर में रखें |इन आलुओं से आप समोसे ,ब्रेडरोल ,कटलेट ,बर्गर ,सैंडविच ,पराठे कुछ भी बना सकते हैं |इसके अलावा उसमें ताज़ी छौंक लगा कर हल्का भून कर आलू की सूखी सब्जी के रूप में भी परोस सकते हैं |
      हरी मटर-हरी मटर को पीस कर भून कर छोटे पैकेट में कर के फ्रीज़र में रख लें |ये जल्दी में निमोना बनाने के काम आयेगा |
       कटहली -इसको भी छोटे टुकड़ो में काट कर तल कर फ्रीज़र में रख लें |बिना मौसम की कटहली खिलाने का आनंद अलग ही लगेगा |
        खोया-खोया भून कर फ्रीज़र में रखें |अचानक आ गए मेहमानों को अपनी तुरंत बनायी मिठाई खिलाएं |
        मसाला -अकसर खाना बनाने से अधिक समय मसालों को धीमी आंच पर भूनने में लगता है |लहसुन-प्याज पीस कर धीमी आंच में भून कर रख लें ,जब जैसे मसाले की जरूरत हो वैसे मसाले डाल कर दो से तीन मिनटों में आप मनपसंद मसाला तैयार कर सकती है |
      बस आज के लिया इतने चोर-रास्ते काफी हैं ,बाकी फिर कभी ......
                                                                                           -निवेदिता

6 comments:

  1. hmmm shrimati ji ko aapka blog dikhana parega:)

    ReplyDelete
  2. badhiyaa jaankari ...ab nimona aap ko khilana padega list mein add kar lijiye

    ReplyDelete
  3. Ab mujhe nimona khane ka mann ho raha hai...papa ko phone kar ke recipe bataiye! :)

    ReplyDelete
  4. अच्छे आइडियाज़ हैं...बड़े काम के....
    हार्दिक धन्यवाद एवं आभार।

    ReplyDelete
  5. dear friends ,thank you so much...

    ReplyDelete